5 राज्यों में बीजेपी की बड़ी हार, ये है वो 5 कारण

पांच राज्यों में हुए चुनावों में बीजेपी की बड़ी हार हुई है, इतनी बुरी तरह हार के पीछे के कारणों की तलाश की जा रही है पर जनता के बीच ऐसे कई सवाल है जिनके कारण बीजेपी की हार मानी जा रही है, ऐसे कारण जिनके कारण बीजेपी न केवल हारी बल्कि उसे हिंदी भाषी राज्यों में भारी झटका लगा है, जानकारों के अनुसार इन 5 कारणों से बीजेपी इन राज्यों में हारी है आइये जानते है क्या है ये कारण



1. एसटी एससी एक्ट – इस एक्ट के कारण इन राज्यों के सवर्ण समुदाय में खासी नाराजगी देखी गयी क्यूंकि सवर्ण समुदाय बीजेपी का परम्परागत वोट बैंक है जिसके दलित एक्ट के बाद कांग्रेस की और खिसकने का अनुमान था और यही हुआ भी, बीजेपी द्वारा अपने वोट बैंक की अनदेखी के कारण ही बीजेपी की हार निश्चित हुई

2. किसानो का मुद्दा – बीजेपी की हार में एक मुख्य मुद्दा किसानो का माना जा रहा है, मध्य प्रदेश के मंदसौर में पिछले साल किसानो के प्रदर्शन पर गोली चलाने के कारण 5 किसानो की मौत ने राज्य में बीजेपी की हार तय कर दी थी, जिससे किसान वर्ग बीजेपी से ख़ासा नाराज था और उसी का खामियाजा बीजेपी को भुगतना पड़ा

3. व्यापार चौपट होना – GST के कारण व्यापारियों को ख़ासा नुक्सान उठाना पड़ा है जिसका प्रभाव बीजेपी पर पडा और समाज के व्यापारी वर्ग में फ़ैल रहे असंतोष ने बीजेपी की हार तय कर दी

4. बेरोजगारी – हिन्दी भाषी राज्यों में बढती बेरोजगारी के कारण आम जनता का बीजेपी से मोहभंग हो रहा है जिस कारण युवाओं में बीजेपी के खिलाफ असंतोष बढ़ रहा था और यही बीजेपी की हार का कारण था

5. एंटी इनकंबेंसी –मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में पिछले 15 सालो से बीजेपी सत्ता में थे इसलिए जनता नए परिवर्तन की ओर देख रही थी, यही कारण है की छत्तीसगढ़ में जहाँ बीजेपी का सूपड़ा साफ हो गया तो राजस्थान में कांग्रेस को पूर्ण बहुमत मिला, वही मध्य प्रदेश में कांग्रेस बहुमत के लगभग करीब है